चैत्र नवरात्री 2022 कलश स्थापना का शुभ मुहूर्त क्या है |विसर्जन और हवन कब करे ?

नवरात्रि हिंदुओ का एक प्रमुख पर्व है , नवरात्रि संस्कृत का शब्द है जिसका अर्थ होता है नव राते। इन नव रातो में देवी के नव अलग अलग रूपो का पूजन होता है ।
नवरात्रि में देवि का पूजन कलश स्थापन कर के करना चाहिए तथा अखंड ज्योति नव दिन तक जलानी चाहिए।

पुरे नव दिन की नवरात्री

इस नवरात्रि में किसी भी तिथि का छय न होने के कारण पूरा 9 दिनों का है जो कि 02-04-2022 से प्रारम्भ हो कर 10-04-2022 तक है ।

चैत्र नवरात्री 2022 कलश स्थापना का समय

कलश स्थापना का सर्वाधिक उत्तम समय अभिजीत मुहूर्त है जिसका काल 02-04-2022 मे सुबह 11:35 से 12:25 बजे तक है ।

कलश स्थापना का स्थान

कलश स्थापना का उत्तम स्थान घर के ईशान कोण अथवा पूर्व दिशा होता है ।

हवन और विसर्जन
  • हवन का मुहूर्त दिनांक 10-04-2022 को सुबह 5:51 AM सूर्योदय के बाद से है
  • हवन के बाद आरती एवं भोग लगा कर विसर्जन करना चाहिए ।
माता का विशेष पूजन
  • विशेष पूजन में माता का सहस्त्रार्चन करना चाहिए जिसमें माता के एक हजार नामों से फल पुष्प या द्रव्य चढ़ा कर पूजन किया जाता है ।
  • देवी को लाल रंग प्रिय है इसलिए पूजन में लाल सामग्रियों पुष्पों और फलों का प्रयोग करना चाहिए ।
पाठ कराने के लिए संपर्क करें

पाठ होने का स्थान- विंध्याचल शक्तिपीठ

ब्राह्मण की संख्या – 1

पाठ का प्रकार – नवचंडी

अधिक जानकारी के लिए :+91 93692 26809 पर व्हाट्सएप्प या कॉल करे

अथवा यहाँ अपना नाम दर्ज कराये

Leave a Comment

Your email address will not be published.